इजाज़त शायरी – Ijazat Shayari

Ijazat shayari in Hindi - इजाज़त शायरी

पेश है खास आपके के लिए रिश्तो और जज़्बातों से जुड़ी इजाज़त शायरी। किसी अपने से इजाज़त लेने और देने के लिए शायराना अंदाज हिन्दी शायरी के रूप में –

तुम्हारी फिक्र करने के लिए
हमारा रिश्ता होना जरूरी तो नही…
एहसास की ही तो बात है,
तुम्हारी इजाजत भी जरूरी नही….

इजाजत हो अगर तो पूछ लूँ मैं तेरी ज़ुल्फ़ों से,
सुना है ज़िंदगी एक खूबसूरत जाल है…

इजाजत हो तो तेरे चेहरे को देख लूं जी भर के…
मुद्दतों से इन आँखों ने कोई बेवफा नहीं देखा…….

Continue reading “इजाज़त शायरी – Ijazat Shayari”

खता हो गयी

खता हो गयी - Khatta Hindi Shayari

खता हो गयी तो फिर सज़ा सुना दो,
दिल में इतना दर्द क्यूँ है वजह बता दो,
देर हो गयी याद करने में जरूर,
लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल मिटा दो।

आज आसमान के तारों

आज आसमान के तारों - Hindi Sad Shayari

आज आसमान के तारों ने मुझे पूछ लिया,
क्या तुम्हें अब भी इंतज़ार है उसके लौट आने का।
मैंने मुस्कुराकर कहा,
तुम लौट आने की बात करते हो,
मुझे तो अब भी यकीन नहीं उसके जाने का।