मैं तेरा मुंतज़िर हूँ

muskura-ke-mil-hindi-judai-shayari
मैं तेरा मुंतज़िर हूँ मुस्कुरा के मिल कब तक तुझे तलाश करूँ अब आ के मिल यूं मिल के फिर जुदाई का लम्हा न आ सके जो दरमियाँ में है सभी कुछ मिटा के मिल
इस पोस्ट को स्टार रेटींग दे
[Total: 0 Average: 0]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *