तराशा है – Shayari on Beauty

तराशा है - Shayari on Beauty - सुंदरता पर शायरी

तराशा है उनको बड़ी फुर्सत से,
जुल्फे जो उनकी बादल की याद दिला दे,
नज़र भर देख ले जो वोह किसी को,
नेकदिल इंसान की भी नियत हिला दे…

नजरों को तेरे प्यार

Nazaar Shayari and Payar Shayari in Hindi, नजरों हिन्दी शायरी

नजरों को तेरे प्यार से इंकार नहीं है,
अब मुझे किसी और का इंतज़ार नहीं है,
खामोश अगर हूँ मैं तो ये वजूद है मेरा
तुम ये न समझना कि तुमसे प्यार नहीं है।

नजर से क्यूँ

नजर से क्यूँ  - Ishq Mohobat Hindi Shayari

नजर से क्यूँ जलाते हो आग चाहत की,
जलाकर क्यूँ बुझाते हो आग चाहत की,
सर्द रातों में भी तपन का एहसास रहे,
हवा देकर बढ़ाते हो आग चाहत की।