आखों को आखों से

ankho shayari, tanha shayari

आखों को आखों से बताई जाती है…
दुनिया से जो बात छुपाई जाती है…
चाँद से पुछो या पूछो मेरे दिल से …
तन्हा कैसे रात बिताई जाती है….

कभी हस लिये

Yaad, Udassi and Sad Hindi Shayari, Tanhai Hindi shayari
कभी हस लिये तो कभी मुस्कुरा दिये।
जब हुए उदास तन्हाई मे रो लिये।।
सुनाने से दास्तां अपनी, अपनी ही रुसवाई थी।
कुछ छुपा ली हमने, कुछ पन्नो पे सजा दिये।।

सब कुछ है नसीब में

सब कुछ है नसीब में - Hindi Sad Tanhai, Naseeb Shayari
सब कुछ है नसीब में, तेरा नाम नहीं है
  दिन-रात की तन्हाई में आराम नहीं है
मैं चल पड़ा था घर से तेरी तलाश में
  आगाज़ तो किया मगर अंजाम नहीं है
मेरी खताओं की सजा अब मौत ही सही
  इसके सिवा तो कोई भी अरमान नहीं है
कहते हैं वो मेरी तरफ यूं उंगली उठाकर
  इस शहर में इससे बड़ा बदनाम नहीं है