आखों को आखों से

ankho shayari, tanha shayari

आखों को आखों से बताई जाती है…
दुनिया से जो बात छुपाई जाती है…
चाँद से पुछो या पूछो मेरे दिल से …
तन्हा कैसे रात बिताई जाती है….

उदास आपको देखने से

उदास आपको देखने से पहले ये आँखे न रहें,
खफा हो आप हमसे तो ये हमारी साँसें न रहें,
अगर भूले से भी ग़म दिए हमने आपको,
आपकी जिंदगी में हम क्या हमारी यादें भी न रहें।